शूटर हनुमान पांडेय उर्फ राकेश STF की गोली से हुआ ढेर ,कृष्णानंद राय हत्या काण्ड का था आरोपी

लखनऊ (ऊँ टाइम्स)   लखनऊ के सरोजनीनगर इलाके में पुलिस व बनारस एसटीएफ ने शूटर हनुमान उर्फ राकेश पांडेय को गोली मारकर ढेर कर दिया। यह हनुमान पांडेय बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय हत्याकांड में आरोपित था। उस पर 25 हजार रुपये का ईनाम भी घोषित था। पुलिस एनकाउंटर में उसके साथ मौजूद पांच लोग भागने में कामयाब हो गए। पुलिस की गोली से घायल हनुमान पांडेय को लोहिया अस्पताल ले जाया गया, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया गया।  
बनारस एसटीएफ व लखनऊ पुलिस की टीम शूटर हनुमान उर्फ राकेश पांडेय तलाश में लगी थी। सुबह पांच बजे के करीब सरोजनीनगर थाने से चंद कदम दूरी कैप्टन मनोज पांडेय चौराहे पर पुलिस ने आरोपित हनुमान पांडेय की कार पर पीछे से हिट किया। जिससे उसकी कार डिवाइडर पर जा लड़ी। कार में शूटर हनुमान पांडेय के साथ चार लोग और बैठे थे। पुलिस के मुताबिक कार से निकलकर हनुमान पांडेय ने ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई  में पुलिस ने भी उस पर गोली चलाई। जिससे वो मौके पर ही ढेर हो गया। शूटर हनुमान पांडेय के सीने में गोली लगी, उसके बाद उसे लोहिया अस्पताल ले जाया गया , जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। 

नवंबर 2005 में गाजीपुर के मोहम्मदाबाद से बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय की हत्या कर दी गई थी। एके-47 से लैस आधा दर्जन बदमाशों ने विधायक के काफिले को घेरकर 400 राउंड से भी अधिक गोलियां बरसाई थीं। कृष्णानंद सहित सात  लोगों की मौत हो गई थी।
एनकाउंटर में मारे गए इनामी बदमाश हनुमान उर्फ राकेश पांडेय का आपराधिक इतिहास लंबा रहा है। राजधानी लखनऊ सहित गाजीपुर, मऊ, रायबरेली में 10 मुकदमे गंभीर धाराओं में पंजीकृत हैं। मऊ के कोपागंज का रहने वाला राकेश पांडेय ठेकेदार अजय प्रकाश सिंह उर्फ मन्ना सिंह हत्याकांड में भी मुख्तार अंसारी के साथ सह आरोपी था। शूटर हनुमान पांडेय बाहुबली नेता मुख्तार अंसारी और माफिया मुन्ना बजरंगी का करीबी माना जाता है। प्रयागराज और मऊ पुलिस ने आरोपित पर इनाम भी घोषित कर रखा था।
एसटीएफ एसएसपी सुधीर कुमार ने बताया कि शातिर बदमाश हनुमान पांडेय उर्फ रोकश पांडेय की सूचना बनारस एसटीएफ को मिली थी। इसकी तलाश एसटीएफ बनारस टीम और हेडक्वाटर टीम को थी। एडिशनल एसपी राज सिंह के नेतृत्व में ये एन्काउंटर हुआ। यहां आकर इनकी पेड़ से गाड़ी टकराई, कार में पांच बदमाश सवार थे। इन्होंने फायरिंग की जिसमें हनुमान पांडेय  उर्फ रोकश पांडेय को गोली लगी। बाकि बदमाश बचकर भाग निकले। राकेश पांडेय को अस्पताल में मृत घोषित कर दिया गया।  चर्चा है कि कार में राकेश पाण्डेय के साथ अन्य और जो लोग थे वे पुलिस और एसटीएफ के मुखबिर थे, इस लिए उन लोगों पर पुलिस ने गोली नही चलाया! वैसे सच क्या है यह तो पुलिस वाले ही बता सकते हैं!

लेखक: OM TIMES News Paper India

(Regd. & App. by- Govt. of India ) प्रधान सम्पादक रामदेव द्विवेदी 📲 9453706435 🇮🇳 ऊँ टाइम्स

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s